अध्यात्म

महाभारत के महान योद्धा अश्वत्थामा, जो आज भी जीवित है

अश्वत्थामा, जिनको द्रोणी भी कहा जाता है, क्यूंकि वे गुरु द्रोण के पुत्र थे। वह ऋषि भारद्वाज के पोते थे।…

2 weeks ago

महाशिवरात्री पर्व का वैज्ञानिक महत्व

आप सभी को अवगत कराना चाहूंगी कि 11 मार्च यानी गुरुवार के दिन महाशिवरात्रि का पर्व मनाया जाएगा। जैसा कि…

1 month ago

द्वादश ज्योतिर्लिंगों की महिमा | भगवान शिव के 12 ज्योतिर्लिंग

भगवान शिव के बारह ज्योतिर्लिंग देश के अलग-अलग भागों में स्थित हैं। इन्हें द्वादश ज्योतिर्लिंग के नाम से जाना जाता…

2 months ago

सत्य अथवा धर्म की रक्षा का अभेद्य कवच गीता

धर्म तथा सत्य दोनो एक-दूसरे के पर्यायवाची हैं। धर्म का ही दूसरा नाम सत्य है तथा सत्य का ही दूसरा…

2 months ago

पेड़ भी करते हैं पिण्डदान, पीपल का पेड़ होता है मोक्षदायक

परिवार की परिभाषा के अनुसार अपने जनक को मुखाग्नि देने का अधिकार पुत्र का है। पुत्र ही तर्पण करता है।…

2 months ago

इच्छामृत्यु का वैज्ञानिक विश्लेषण

जीवन का ज्ञात भाग एक रेखा है जो जन्म और मृत्यु के दो बिन्दुओं पर खींची गयी है। व्यक्ति की…

3 months ago

मकर संक्रांति पर स्नान एवं दान का विशेष महत्व

वैसे तो भारत वर्ष में कई त्योहार मनाए जाते हैं लेकिन मकर संक्रांति का कुछ विशेष महत्व है। दरअसल, यही…

3 months ago

भक्तों की हर मन्नत पूरी होती है मायादेवी मन्दिर में

भगवान शिव की अर्धांगिनी और प्रजापति राजा दक्ष की सुपुत्री सती के आत्मदाह के साथ ही तीर्थ नगरी हरिद्वार को…

3 months ago

ब्रह्मवैवर्त पुराण के अनुसार-दक्षिणावर्ती शंख ::

दक्षिणावर्ती शंख :: द्विधासदक्षिणावर्तिर्वामावत्तिर्स्तुभेदत: दक्षिणावर्तशंकरवस्तु पुण्ययोगादवाप्यते यद्गृहे तिष्ठति सोवै लक्ष्म्याभाजनं भवेत्। दक्षिणावर्ती शंख पुण्य के ही योग से प्राप्त होता…

4 months ago

छठ महापर्व: बिहार में क्यों?

वैदिककालीन मध्य भारतवर्ष के कीकट प्रदेश में गयासुर नामक एक दानव रहता था| वह भगवान विष्णु का उपासक था| गयासुर…

5 months ago

This website uses cookies.