कुम्भ और अर्ध कुम्भ

कुम्भ राशि गत सुर-गुरु, बृहस्पति द्वारा प्रेरित महाकुम्भ का महापर्व हरिद्वार में क्यों मनाया जाता है! हरिद्वार, जो प्राचीनतम मायापुरी क्षेत्रा का अभिन्न अंग, गंगा

पत्रकारिता की कसौटी की भी कसौटी होनी चाहिए

पत्रकारिता का अस्तित्व ही सवाल पूछने और शासन में बैठे लोगों की जवाबदेही तय करना है। लेकिन इस जवाबदेही से मीडिया भी अछूती नहीं। अब

हिन्दुओ का दमन करने की कोशिश कई बार हुई

महाकुंभ की पौराणिक, ऐतिहसिक, काल्पनिक या वैज्ञानिक चर्चाओं से हिन्दु संस्कृति एवं भावनाओं का अटूट सम्बन्ध है। इस सम्बन्ध को विकृत स्वरूप दिये जाने की

मकर संक्रांति पर स्नान एवं दान का विशेष महत्व

वैसे तो भारत वर्ष में कई त्योहार मनाए जाते हैं लेकिन मकर संक्रांति का कुछ विशेष महत्व है। दरअसल, यही एकमात्र त्योहार है जो देश

भक्तों की हर मन्नत पूरी होती है मायादेवी मन्दिर में

भगवान शिव की अर्धांगिनी और प्रजापति राजा दक्ष की सुपुत्री सती के आत्मदाह के साथ ही तीर्थ नगरी हरिद्वार को सप्तपुरियों में से एक मायापुरी

भावनात्मक एकता के प्रतीक हैं कुम्भ मेले

कुम्भ आस्था का महान पर्व है। इसकी तुलना विश्व के किसी भी पर्व से नहीं की जा सकती। इसका ऐतिहासिक, दार्शनिक, सामाजिक कोई भी पक्ष

जानिए बारह राशियों वार्षिक राशिफल-2021

कोरोना के चलते 2020 का साल उथल-पुथल भरा रहा है। आइए जानते है 2021 में ग्रहों का राशियों पर क्या प्रभाव पड़ेगा। राशिफल जानने से

राजकीय सेवा (नौकरी) और ग्रह नक्षत्र

आज की युवा पीढ़ी पढ़ लिख लेने के बाद उनका यही प्रश्न होता है कि हमारी नौकरी कब लगेगी। सरकारी नौकरी के लिए आज भी

कोविड-9 महामारी के दौर में होगा हरिद्वार c-2021 का बड़ा धार्मिक समागम

हरिद्वार कुम्भ का इतिहास एवं वर्तमान स्वरूप धर्म नगरी हरिद्वार पर धीरे-धीरे अब कुंभ मेले का रंग चढ़ता जा रहा है। इन दिनों हरिद्वार आने

Load More